Dhan4
ताज़ा खबर

1 नवम्बर से शुरू होने जा रहे धान खरीदी को लेकर समिति प्रबंधकों की हुई बैठक


रायगढ़,  कलेक्टर श्रीमती रानू साहू के निर्देशन में आज नगर निगम ऑडिटोरियम में धान खरीदी वर्ष 2022-23 के संबंध में समीक्षा बैठक आयोजित हुई। इस मौके पर सीईओ जिला पंचायत श्री अबिनाश मिश्रा, उप संचालक कृषि श्री हरीश राठौर, सहायक खाद्य अधिकारी श्री चितरंजन सिंह, तहसीलदार श्री लोमश मिरी, अपेक्स बैंक से श्री सुनील सोढ़ी उपस्थित रहे।

Dhan5
सीईओ श्री मिश्रा ने कहा कि राज्य शासन के निर्देशानुसार आगामी 01 नवम्बर से धान खरीदी की शुरूआत होगी। इसके मद्देनजर सभी धान उपार्जन केन्द्रों में बिजली, पानी सहित समस्त मूलभुत सुविधाएं उपलब्ध होनी चाहिए। कहीं भी किसी प्रकार की शिकवा-शिकायत की स्थिति निर्मित न हो। आगामी 20 अक्टूबर तक वहां पूरी तैयारी रखें। उपार्जन केन्द्रों में कमी या लापरवाही पाये जाने पर संबंधित खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। सीईओ श्री मिश्रा ने कहा कि सभी उपार्जन केन्द्र स्थलों में धान के सुरक्षित रख-रखाव हेतु पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। अगर किसी उपार्जन केन्द्रों में चबूतरें एव शेड की आवश्यकता हो तो तत्काल आवेदन बनाकर उप पंजीयक के पास आवेदन जमा करें। सभी उपार्जन केन्द्रों में पर्याप्त मात्रा में बारदानों की व्यवस्था हो यह सुनिश्चित करें। साथ ही समितियों के पास विगत उपार्जन वर्ष के शेष बचे बारदानों का भी उपयोग करें। प्रतिदिन उपार्जित धान की भरी बोरियों की तौलाई पश्चात तत्काल सिलाई एवं स्टेकिंग पूर्ण करायें। उन्होंने कहा कि संवेदनशील/अति संवेदनशील एवं बार्डर के उपार्जन केन्द्रों में सीसीटीवी कैमरा चालू हालत में हो यह सुनिश्चित कर लें। उन्होंने खाद्य अधिकारी को उक्त सभी केन्द्रों में पर्यवेक्षण हेतु दल गठित करने के निर्देश दिए। ताकि अन्य राज्यों से धान लेकर आने वाले कोचियों पर निगरानी हो सकें। उन्होंने कहा कि धान लेकर आने वाले वाहनों के प्रकार, नंबर आदि का किसानवार विवरण का रिकार्ड जरूर रखें, जिसका आवश्यकतानुसार सत्यापन कराया जा सके। उपार्जन केन्द्रोंं में खरीदे गए धान की और भण्डारित बारदानों की व्यवस्थित स्टेकिंग, संधारण तथा भंडारित धान एवं बारदानों की साप्ताहिक भौतिक सत्यापन उपार्जन केन्द्र एवं दल द्वारा करायें। उन्होंने कृषि विभाग के आरईओ एवं एसएडीओ को निर्देशित किया है कि पोर्टल पर कृषक पंजीयक के कार्य शीघ्र से पूर्ण करायें। उन्होंने कहा कि अगर उपार्जन केन्द्रों में ग्रीष्म कालीन धान या पुराने धान की आवक होती है तो तत्काल इसकी सूचना संबंधित तहसीलदार को दें।
समीक्षा बैठक के दौरान कृषि विभाग के आरईओ एवं एसएडीओ सहित समस्त समिति प्रबंधक उपस्थित रहे।