Ranu3o
ताज़ा खबर

चक्रपथ की ऊंचाई बढ़ाने कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने ली रेलवे अधिकारियों की बैठक


रायगढ़,  कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने आज कलेक्टोरेट में चक्रपथ की ऊंचाई बढ़ाने के संबंध में रेलवे के अधिकारियों की बैठक ली। नगर निगम आयुक्त श्री संबित मिश्रा भी इस बैठक में उपस्थित रहे।
कलेक्टर श्रीमती साहू ने रेलवे के अधिकारियों से चक्रपथ की ऊंचाई बढ़ाने के संबंध में उनकी ओर से की जाने वाली आवश्यक कार्यवाही के बारे में पूर्व में हुए पत्राचार के आधार पर जानकारी ली। उन्होंने रेलवे डीआरएम से चर्चा करते हुए बताया कि चक्रपथ में केलो नदी के एक किनारे शनि मंदिर की ओर ऊंचाई बढ़ी हुई है वहीं दूसरे किनारे की ऊंचाई नहीं बढ़े होने से यह बारिश के दिनों केलो नदी में जलस्तर बढऩे से डूब जाता है जिससे शहर का यातायात काफी प्रभावित होता है। अत: इसकी ऊंचाई जल्द बढ़ानी आवश्यक है। डीआरएम ने कहा कि इसके लिए रेलवे के ब्रिज इंजीनियर के साथ नगर निगम के इंजीनियर्स संयुक्त रूप से बैठक कर आवश्यक तकनीकी बिन्दुओं के आधार पर आवश्यक कार्यवाही पूरी करेंगे, जिससे रेलवे की ओर से चक्रपथ की ऊंचाई बढ़ाने की अनुमति शीघ्र प्राप्त हो सके। कलेक्टर श्रीमती साहू ने आयुक्त नगर निगम को जल्द इस संबंध में बैठक कर कार्यवाही आगे बढ़ाने के निर्देश दिए है।
इसके पश्चात कलेक्टर श्रीमती साहू ने मालधक्का रोड पर स्थित रेलवे के अंडर ब्रिज की साफ-सफाई व डे्रनेज के संबंध में भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि डे्रनेज की नियमित सफाई बेहद जरूरी है क्योंकि पर्याप्त सफाई के अभाव में बारिश के दौरान यहां जलभराव हो जाता है। स्ट्रक्चर काफी पुराना होने के कारण इसे सुधारने की आवश्यकता है जिससे अंडर ग्राउण्ड डे्रनेज की अच्छे से साफ किया जा सके। इसके लिए उन्होंने रेलवे को स्ट्रक्चर को सुधारने के निर्देश दिए।
इस अवसर पर रेलवे की ओर से असिस्टेंट रेलवे डिवीजनल इंजीनियर श्री विजय कुमार, ईई नगर निगम श्री उपाध्याय सहित रेलवे तथा नगर निगम के अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।
स्टेशन का रख-रखाव हो बेहतर, सूखा-गीला कचरा दें अलग से
कलेक्टर श्रीमती साहू ने रेलवे स्टेशन के रख-रखाव व यात्री सुविधाओं के बारे में भी रेलवे के अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि रायगढ़ का रेलवे स्टेशन इस रूट का एक प्रमुख स्टेशन है, यहां यात्रियों की काफी आवाजाही होती है। इसको ध्यान में रखते हुए स्टेशन का समुचित रख-रखाव किया जाए व सौंदर्यीकरण पर भी विशेष ध्यान दें। उन्होंने रेलवे स्टेशन से निकलने वाले कचरे के निपटान के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सूखा व गीला कचरा अलग-अलग प्रदान करें। इसके लिए न केवल यात्रियों को जागरूक करने का प्रयास स्टेशन पर किया जाए बल्कि कचरे को एसआरएलएम सेंटर भेजने से पहले गीले व सूखे कचरे को अलग-अलग किया जाए। इसके लिए नगर निगम व रेलवे की एक ज्वाईंट टीम को भी स्टेशन का विजिट करने के निर्देश भी दिए।