Shishu5
ताज़ा खबर

आज से शुरू हुआ शिशु संरक्षण माह : महापौर और जिला टीकाकरण अधिकारी ने किया रामभांठा यूपीएचसी में शिशु संरक्षण माह का उद्घाटन


रायगढ़,  मंगलवार को रामभांठा स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (यूपीएचसी) में शिशु संरक्षण माह का शुभारंभ किया गया। ज़िले में 13 सितंबर से 14 अक्टूबर तक चलाये जाने वाले शिशु संरक्षण माह में बच्चों को विटामिन ए और आयरन सिरप की खुराक सप्ताह में दो बार दी जायेगी। यह खुराक 13 प्रस्तावित सत्रों में बच्चों को पिलाई जायेगी।

Shishu6

उद्घाटन सत्र में महापौर जानकी काटजू, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.भानू पटेल, शहरी कार्यक्रम प्रबंधक डॉ. राकेश वर्मा समते स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे। महापौर ने समय से शिशुओं के टीकाकरण और विटामिन लेने के लिए सभी से आग्रह किया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी रायगढ़ डॉ. एस. एन. केसरी ने जिले के समस्त हितग्राहियों को शिशु संरक्षण माह के दौरान आयोजित सत्रो में दी जाने वाली सेवाओं का लाभ लेने की अपील की है।

Shishu7

शिशु और बाल्य रोग विशेषज्ञों के अनुसार आयरन और विटामिन ए की खुराक से बच्चों के पोषण स्तर में सुधार आता है। इसकी खुराक न पीने वाले बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास सही से नहीं हो पाता है। 9 माह से 1 वर्ष तक के बच्चों को 1 एमएल विटामिन ए की खुराक एवं 1-5 वर्ष तक के बच्चों को दो एमएल खुराक दी जाएगी, वहीं 6 माह से 5 वर्ष तक के बच्चों को 1 एमएल प्रति सप्ताह आयरन फोलिक सिरप की निर्धारित खुराक दी जायेगी।

शिशु संरक्षण माह के बारे में जानकारी देते हुए जिला टीकाकरण अधिकारी, डॉ. भानू पटेल ने बताया: “शिशु संरक्षण माह विटामिन ए अनुपूरक कार्यक्रम है जिसमें विटामिन ए और आयरन सिरप समस्त शासकीय स्वास्थ्य केन्द्रों में नि:शुल्क दिया जायेगा । इसके साथ ही बच्चों का वजन मापना, पोषण आहार की जानकारी लेना, आंगनबाड़ी केंद्रों में पोषण आहार की सेवाओं की उपलब्धता कराना, और अति गंभीर कुपोषित बच्चों को चिन्हित कर पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती करवाने जैसी गतिविधियां शामिल है । स्वास्थ्य अधिकारियों को शिशु संरक्षण माह की विटामिन ए अनुपूरक कार्यक्रम की गाइडलाईन जारी की गयी है । अभियान के सफल संचालन में ग्राम स्वास्थ्य व शहरी स्वास्थ्य पोषण दिवस पर ग्राम व शहरी स्तर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, क्षेत्र की मितानिन, महिला आरोग्य समिति, ग्राम पंचायत, वार्ड पार्षद और सदस्यगणों का सहयोग लिया जा रहा है।“

हाई रिस्क इलाकों पर रहेगा फोकस

स्वास्थ्य विभाग के शहरी कार्यक्रम प्रबंधक डॉ राकेश वर्मा ने बताया: ”शिशु संरक्षण माह में हाई रिस्क इलाकों पर हमारा ज्यादा फोकस रहेगा क्योंकि पिछड़े तबके होने के कारण और जानकारी के अभाव में इन लोगों तक बच्चों के टीकाकरण और विटामिन के खुराक का ज्ञान नहीं होता है। लेबर कॉलोनी, स्लम बस्ती, मलीन बस्ती, झुग्गियों के डेरों, पिछड़े इलाकों की सूची तैयार कर ली गई है। इसेक अलावा कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार ही बच्चों को विटामिन ए और आयरन सिरप की खुराक दी जाएगी साथ ही शारीरिक दूरी का भी ध्यान रखा जाएगा। समय की जानकारी अभिभावकों को पहले ही दे दी जाएगी ताकि वह आसानी से बच्चों को स्वास्थ्य केंद्र लाकर इन दवाइयों की खुराक दिलवा सके।“

इन तिथियों पर आयोजित होंगे सत्र

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 13 सत्रों के लिये चलने वाला यह अभियान शहरी क्षेत्रों में 14 अक्टूबर तक सप्ताह के मंगलवार-बुधवार और शुक्रवार को तो ग्रामीण क्षेत्रों में मंगलवार और शुक्रवार को आयोजित होंगे। तिथिनुसार 13 सितंबर, 14 सितंबर, 16 सितंबर, 20 सितंबर, 23 सितंबर, 27 सितंबर, 30 सितंबर, 04 अक्टूबर, 05 अक्टूबर, 06 अक्टूबर, 07 अक्टूबर, 11 अक्टूबर, 14 अक्टूबर, को ऑगनबाड़ी केन्द्र पर संचालित किया जाएगा ।