ताज़ा खबर

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने रामनवमी पर माता कौशल्या और भगवान राम की पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि और खुशहाली की कामना की


श्री राम हमारे भांचा, और छत्तीसगढ़ी परिवारों में भांजों का विशेष स्थान- मुख्यमंत्री श्री बघेल

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज राम नवमी के पावन पर्व पर रायपुर के चंदखुरी में माता कौशल्या की पूजा अर्चना की। आज दोपहर चंदखुरी पहुँचकर मुख्यमंत्री ने माता कौशल्या के मंदिर में माथा टेका और विधि विधान से पूजा अर्चना कर प्रदेश के सभी लोगों की खुश हाली और समृद्धि की कामना की।

Bhupesh2

श्री बघेल ने माता कौशल्या की धरा से देश और प्रदेश वासियों को राम नवमीं के पावन पर्व पर शुभकामनाये दी।

कौशल्या माता के दर्शन करने के बाद मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि इस पवित्र स्थान को जन भावनाओ के अनुरूप विकसित किया गया है। मंदिर सौंदर्यीकरण के साथ ज्योति कलश बनाये गए है। उन्होंने कहा कि इस जगह के विकसित होने से धार्मिक के साथ साथ पर्यटन की दृष्टि से भी लोगो को फायदा हुआ हैं। अब रायपुर, दुर्ग भिलाई से लोग वीक एन्ड पर यहाँ आते है,  माता कौशल्या के दर्शन कर पुण्य लाभ लेते है और घूम कर भी जाते है।

श्री बघेल ने पूजा अर्चना के बाद कहा कि माता कौशल्या छत्तीसगढ़ महतारी की बेटी है और इस रिश्ते से छत्तीसगढ़ भगवान राम का ननिहाल और  भगवान राम हमारे भांचा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के पारिवारिक ताना बाना में भांजों का विशेष महत्व है। यहाँ भांजों से अलग ही स्नेह और लगाव है । ऐसे में भगवान राम के आदर्शों पर चलते हुए हम सब प्रदेश के विकास और सर्व जन हिताय सर्व जन  सुखाय के लिए काम कर रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान राम वनवास के दौरान छत्तीसगढ़ में जहाँ जहाँ से गुजरे थे उन स्थलों को पर्यटन स्थल के रूप में राज्य सरकार विकसित कर रही है।
इस अवसर पर गृह गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष  राजेश्री महंत डॉ रामसुंदर दास भी साथ में थे।