राष्ट्रीय

देवघर एयरपोर्ट पर BJP सांसद ने जबरन लिया क्लीयरेंस! निशिकांत, मनोज तिवारी सहित 9 के खिलाफ FIR दर्ज



झारखंड के देवघर एयरपोर्ट से चार्टर्ड प्लेन की उड़ान के लिए एटीसी (एयर ट्रैफिक कंट्रोल) में घुसकर जबरन क्लीयरेंस लेने पर भाजपा के दो सांसदों निशिकांत दुबे और मनोज तिवारी, दिल्ली के भाजपा नेता कपिल मिश्रा, सांसद दुबे के दो बेटों सहित नौ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है।

दूसरी तरफ बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने कहा है कि वे लोग दुमका में जलाकर मारी गई पीड़िता से मिलने गए थे तो राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बौखला गए। इसके साथ ही उन्होंने देवघर के डीसी मंजूनाथ भजंत्री पर एयरपोर्ट के कार्य में बाधा पहुंचाने, बिना इजाजत डीआरडीओ क्षेत्र में जाने और देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने का आरोप लगाते हुए एफआईआर के लिए देवघर एसपी को मेल भेजा है। सांसद ने ट्विट कर कहा है कि उन्होंने दिल्ली में देवघर डीसी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई है।

देवघर एयरपोर्ट की सिक्योरिटी में तैनात डीएसपी सुमन अमन की शिकायत पर कुंडा थाने में दर्ज एफआईआर में कहा गया है कि 31 अगस्त की शाम बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे और मनोज तिवारी सहित कई लोग बिना इजाजत एटीसी में अंदर घुस गए और अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर कर्मचारियों पर दबाव डालकर चार्टर्ड प्लेन के टेक ऑफ के लिए क्लीयरेंस हासिल कर लिया। देवघर एयरपोर्ट में नाइट टेक ऑफ और लैंडिंग की सुविधा अभी तक उपलब्ध नहीं है। ऐसे में यह सुरक्षा नियमों का उल्लंघन है।

एफआईआर में बताया गया है कि लो विजिबिलिटी और खराब मौसम की वजह से सूर्यास्त के बाद एयरक्राफ्ट को एटीसी क्लीयरेंस सामान्य तौर पर देना मुमकिन नहीं था। डीएसपी ने अपनी शिकायत में लिखा है कि जब वह एटीसी कंट्रोल रूम पहुंचे तो वहां एयरपोर्ट के डायरेक्टर संदीप ढींगरा और चार्टर्ड प्लेन के पायलट पहले से उपस्थित थे। उस समय चार्टर्ड प्लेन के पायलट उपस्थित कर्मियों पर दबाव डाल रहे थे कि चार्टर्ड प्लेन के यात्रियों को आज ही वापस जाना अति आवश्यक है, इसलिए क्लीयरेंस दिया जाए। कुछ ही देर बाद सांसद और उनके दोनों पुत्र भी वहां पहुंच गए। उन्हें रूम में देखकर आश्चर्य हुआ और असहज महसूस किया।

डीएसपी अमन ने लिखा है कि एयरपोर्ट संचालन के सुरक्षा मानकों का उल्लंघन करते हुए इन लोगों ने एटीसी में एंट्री की। डीएसपी ने सीसीटीवी फुटेज का भी हवाला दिया है। एफआईआर में मुकेश पाठक, देवता पांडे और पिंटू तिवारी पर भी एटीसी बिल्डिंग में सुरक्षा का मानदंडों का उल्लंघन कर घुसने का आरोप है।

इधर गोड्डा के भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने इस मुद्दे को लेकर कई ट्वीट किए हैं और राज्य सरकार एवं देवघर के डीसी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि निशिकांत ने कहा है कि सुरक्षा जांच और जरूरी अनुमति लेने के बाद एटीसी गए थे। उन्होंने यह भी कहा कि एयरपोर्ट एडवाइजरी कमिटी का चेयरमैन होने के नाते मैं निरीक्षण कर सकता हूं।

गौरतलब है कि बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे, मनोज तिवारी, भाजपा नेता कपिल मिश्रा सहित पार्टी के कई लोग दुमका में पेट्रोल अटैक में मारी गई लड़की के परिवार से मिलने 31 अगस्त को उसके घर पहुंचे थे। दुमका से सभी शाम साढ़े 5 बजे देवघर एयरपोर्ट पहुंचे थे और उसके बाद चार्टर्ड प्लेन से दिल्ली के लिए रवाना हुए थे।



Source link