राष्ट्रीय

‘बीजेपी ने दूसरी पार्टियों के अब तक 277 विधायक खरीदे’, राष्ट्रपति से शिकायत करेगी आम आदमी पार्टी



आम आदमी पार्टी ने राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा है। आम आदमी पार्टी का कहना है कि राष्ट्रपति से मुलाकात कर बीजेपी के ऑपरेशन लोटस को लेकर शिकायत की जाएगी। आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने कहा कि मैंने भारत के लोकतंत्र की संरक्षक राष्ट्रपति से समय मांगा है, ‘आप’ विधायकों का एक प्रतिनिधिमंडल देश भर में बीजेपी की ओर से ‘ऑपरेशन लोटस’ के जरिए राज्य सरकारों को अस्थिर करने पर चर्चा करने के लिए राष्ट्रपति से मिलना चाहता है। वहीं दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना का कहना है कि मैंने सुशासन, भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस और दिल्ली के लोगों के लिए बेहतर सेवाओं का आह्वान किया। लेकिन दुर्भाग्य से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हताशा में भटकाव की रणनीति और झूठे आरोपों का सहारा लिया है।

‘आप’ के मुताबिक उसके विधायकों का प्रतिनिधिमंडल जल्द राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू से मुलाकात करेगा। राष्ट्रपति से मुलाकात कर बीजेपी द्वारा देश भर की राज्य सरकारों को अस्थिर करने के लिए चलाए जा रहे ऑपरेशन लोटस के संबंध में चर्चा की जाएगी। राष्ट्रपति से मांग की जाएगी कि बीजेपी के ऑपरेशन लोटस की जांच कराई जाए।

आतिशी ने बताया कि बीजेपी ने पूरे देश में 277 विधायक दूसरी पार्टियों के खरीद कर कई राज्य सरकारों को गिराया है। दिल्ली में भी ऑपरेशन लोटस के तहत 40 विधायकों को खरीदने की कोशिश की गई। प्रत्येक विधायक को 20 करोड़ का ऑफर दिया गया। ऐसे में बीजेपी के पास में 6300 करोड़ रुपए कहां से आए, इसकी जांच होनी चाहिए।

विधायक आतिशी ने कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार अभी तक अरुणाचल प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र, गोवा, मध्य प्रदेश आदि में विधायकों को खरीद कर विपक्षी राज्य सरकारों को गिरा चुकी है और बीजेपी की सरकार बना चुकी है। बीजेपी की ओर से लगातार देश में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है।

इससे पहले आम आदमी पार्टी सीबीआई अधिकारियों से भी मिल चुकी है। आम आदमी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल बुधवार को सीबीआई निदेशक से मिलने सीबीआई मुख्यालय पहुंचा था। सीबीआई निदेशक के नहीं मिलने पर विधायकों के प्रतिनिधि मंडल ने सीबीआई अधिकारियों से मुलाकात की थी। जिसमें बीजेपी की ओर से देश भर में राज्य सरकारों को अस्थिर करने के लिए चलाए जा रहे ऑपरेशन लोटस के संबंध में शिकायत दी थी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ



Source link