छत्तीसगढ़

बिहारः तेजस्वी ने अस्पतालों में सुधार के लिए दिया 60 दिन का वक्त, रखा सफाई, दवाई, सुनवाई, कारवाई का लक्ष्य



बैठक में जिला और बड़े अस्पतालों में 24 घंटे उचित स्टाफ के साथ हेल्प डेस्क स्थापित करने और मरीज भर्ती होने से लेकर, एंबुलेंस, शव वाहन, रेफरल की सहज सुविधा प्रदान करने के साथ-साथ मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत करने की प्रक्रिया को सुगम बनाने का निर्देश दिया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

Engagement: 0

बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मंगलवार की रात पटना के कई अस्पतालों का औचक निरीक्षण करने के बाद बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक की। इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव ने सभी अस्पतालों में सुधार के लिए 60 दिनों का समय दिया है। इस दौरान सफाई, दवाई, सुनवाई और कारवाई सुनिश्चित करने का लक्ष्य दिया गया।

उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव द्वारा बुलाई गई स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में विभाग के शीर्ष अधिकारी, सभी जिलों के सिविल सर्जन, बिहार के सभी मेडिकल कॉलेज के मेडिकल सुपरिटेंडेंट और डीपीएम उपस्थित रहे। तेजस्वी ने कहा कि बैठक में स्वास्थ्य विभाग संबंधित अपने नेक इरादों और स्पष्ट लक्ष्य से अवगत करा दिया है।

बैठक के बाद तेजस्वी ने कहा कि हमने सभी को बिहार के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, जिला सदर अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में स्वास्थ्य सेवा में सुधार का 60 दिनों का लक्ष्य दिया है। जिसमें सफाई, दवाई, सुनवाई और कारवाई सुनिश्चित करना शामिल है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

बैठक में जिला सदर और बड़े अस्पतालों में 24 घंटे उचित स्टाफ के साथ हेल्प डेस्क स्थापित करने का निर्देश दिया गया है। इसमें मरीज भर्ती होने से लेकर, एंबुलेंस, शव वाहन, रेफरल की सहज और सरल सुविधा प्रदान करने के साथ-साथ मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत करने की प्रक्रिया को भी सुगम बनाने का निर्देश दिया है।

तेजस्वी ने बैठक में भ्रष्टाचार को लेकर सख्त निर्देश दिया कि विभाग में किसी भी प्रकार की वित्तीय अनियमितता, रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम पूर्व स्वास्थ्य मंत्री की तरह स्कोर नहीं पूछेंगे बल्कि किए गए कार्यों के स्कोर के आधार पर आपकी सेवा का मूल्यांकन करेंगे। इससे पहले तेजस्वी मंगलवार की रात पीएमसीएच सहित पटना के तीन अस्पतालों का निरीक्षण किया था, जिसमे काफी अव्यवस्था देखने को मिली थी।




Source link