वारदात

बिहारः मोदी सरकार का ‘पर्दाफाश’ करने के लिए JDU ने निकाला मार्च, सांप्रदायिक एजेंडे से गुमराह करने का आरोप लगाया



ललन सिंह ने कहा कि आज देश बेरोजगारी, मूल्य वृद्धि, डॉलर के मुकाबले रुपये के घटते मूल्य की समस्या का सामना कर रहा है। ये देश के वास्तविक मुद्दे हैं लेकिन वे इस पर चर्चा नहीं करेंगे और सांप्रदायिक एजेंडे से लोगों को गुमराह करेंगे।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

Engagement: 0

बिहार में जनता दल-यूनाइटेड (जेडीयू) ने केंद्र की मोदी सरकार के झूठ को बेनकाब करने के लिए ब्लॉक स्तर पर ‘अलर्टनेस एंड अवेयरनेस’ मार्च शुरू किया है। मंगलवार को पटना में जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह, एमएलसी नीरज कुमार, प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा और अन्य पार्टी नेताओं ने पटना हाईकोर्ट में भीम राव अंबेडकर की प्रतिमा से मार्च शुरू किया और गांधी मैदान में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर समापन किया।

फोटोः IANS

फोटोः IANS
पटना में JDU का मार्च

जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने इस अवसर पर कहा, “2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी ने हर देशवासी को 15 लाख रुपये नकद, प्रति वर्ष दो करोड़ नौकरी, विदेशों में जमा काला धन वापस लाने का वादा किया था। वे न केवल दो करोड़ नौकरियां प्रदान करने में विफल रहे, बल्कि उन्होंने केंद्र सरकार की रिक्तियों को भी समाप्त कर दिया। उन्होंने अपने व्यवसायी दोस्तों को हर विभाग सौंप दिया है।”

फोटोः IANS

फोटोः IANS
पटना में JDU का मार्च

जेडीयू प्रमुख ललन सिंह ने कहा कि इसके परिणामस्वरूप, देश बेरोजगारी, मूल्य वृद्धि, डॉलर के मुकाबले रुपये के घटते मूल्य की समस्या का सामना कर रहा है। ये देश के वास्तविक मुद्दे हैं लेकिन वे इस पर चर्चा नहीं करेंगे और सांप्रदायिक एजेंडे से लोगों को गुमराह करेंगे।

फोटोः IANS

फोटोः IANS
पटना में JDU का मार्च

जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पूर्णिया में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की हालिया रैली का जिक्र करते हुए कहा, “उन्होंने कहा कि पूर्णिया का हवाई अड्डा आसपास के 12 जिलों के लोगों की सुविधा के लिए बनाया गया था। उन्होंने लोगों से ताली बजाने के लिए भी कहा। इसके लिए मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि पूर्णिया का हवाई अड्डा कहां है?”




Source link