छत्तीसगढ़

गुजरात में बीजेपी की ‘बी टीम’ की भूमिका में केजरीवाल! मुकाबला त्रिकोणीय बनाने की खुली कोशिश



2017 में बीजेपी 17 सीटें खिसककर 99 पर आ गई जबकि कांग्रेस बढ़कर 77 पर पहुंच गई।चुनाव बाद की बाजीगरी की बदौलत, बीजेपी के पास अब 111 विधायक हैं, कांग्रेस के 63, भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के 2, एनसीपी के एक और एक निर्दलीय हैं, जबकि चार सीटें खाली हैं। इस साल दिसंबर में चुनाव होने जा रहे हैं और मुकाबला त्रिकोणीय है। अरविदं केजरीवाल की आम आदमी पार्टी भी मदैान में है।

वैसे, गुजरात पारंपरिक प्रतिद्वंद्वियों कांग्रेस और बीजेपी के बीच चुनावी जंग का मैदान रहा है। अलग पार्टी बनाने वाले ज्यादा कुछ नहीं कर पाए। चाहे किसान मजदूर लोक पक्ष (केएमएलपी) की स्थापना करने वाले कांग्रेस के चिमनभाई पटेल हों, राष्ट्रीय जनता दल बनाने वाले बीजेपी के शंकरसिंह वाघेला हों, गुजरात परिवर्तन पार्टी का गठन करने वाले बीजेपी के दिग्गज केशुभाई पटेल हों, सबका हाल एक-सा रहा। ऐसी सियासी पृष्ठभूमि में आम आदमी पार्टी गुजरात के चुनाव में आई है।



Source link