infosys shareholding pattern 12 9
पैसा बनाओ

इस IT स्टॉक में गिरावट के बीच हिस्सेदारी बढ़ा रहे बड़े म्यूचुअल फंड, जानिए शेयर का नाम और प्राइस



हाइलाइट्स

इंफोसिस के शेयर की कीमत दूसरी तिमाही में तकरीबन 3 फीसदी गिरी.
SBI म्यूचुअल फंड्स ने हिस्सेदारी को 3.49 से बढ़ाकर 4.33 फीसदी किया है.
यूटीआई म्यूचुअल फंड ने भी हिस्सेदारी में इजाफा किया है.

नई दिल्ली. वित्त वर्ष 23 की दूसरी तिमाही में आईटी के शेयरों में बेशक अच्छी-खासी गिरावट देखी गई हो, लेकिन स्मार्ट मनी (बड़े निवेशक) इसे खरीदारी का अच्छा मौका मानकर काम कर रहे हैं. यही वजह है कि बड़े निवेशक या संस्थाएं आईटी के बड़े शेयर्स में अपनी होल्डिंग्स बढ़ा रहे हैं. SBI म्यूचुअल फंड्स ने भी ऐसा ही किया है.

जुलाई से सितंबर 2022 वाली तिमाही में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया म्यूचुअल फंड्स ने भारतीय दिग्गज टेक कंपनी इंफोसिस लिमिडेट के शेयर्स में अपनी हिस्सेदारी 3.49 फीसदी से बढ़ाकर 4.33 फीसदी कर दी है.

जुलाई से सितंबर 2022 की तिमाही के दौरान, इंफोसिस के शेयर की कीमत ₹1,462 (30 जून 2022 को NSE पर क्लोजिंग) से गिरकर ₹1,413 प्रति शेयर स्तर (30 सितंबर 2022 क्लोजिंग) हो गई है. मतलब इसी तिमाही में यह 3.50 प्रतिशत गिरी है. इसलिए, जुलाई से सितंबर 2022 तिमाही के दौरान इंफोसिस के शेयरों में बिकवाली के दबाव के बावजूद एसबीआई म्यूचुअल फंड ने आईटी दिग्गज में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई.

तस्वीरों में – 5 साल में इन PMS फंड्स ने दिया है 21 फीसदी तक वार्षिक रिटर्न, जानिए विस्तार से

Infosys में SBI म्यूचुअल फंड की हिस्सेदारी
Q2FY23 के लिए इंफोसिस लिमिटेड के शेयरहोल्डिंग पैटर्न के अनुसार, एसबीआई म्यूचुअल फंड के पास आईटी कंपनी में 15,75,06,368 शेयर या 4.33 प्रतिशत हिस्सेदारी है. अप्रैल से जून 2022 तिमाही के लिए इंफोसिस के शेयरधारिता पैटर्न में, एसबीआई म्यूचुअल फंड के पास इंफोसिस में 14,67,96,112 शेयर या 3.49 प्रतिशत हिस्सेदारी थी. इसका मतलब है कि एसबीआई म्यूचुअल फंड ने जुलाई से सितंबर 2022 तिमाही के दौरान इंफोसिस के शेयर की कीमत में गिरावट के बावजूद हिस्सेदारी बढ़ाई है.

ये भी पढ़ें – मिडकैप म्यूचुअल फंड में जबरदस्त रिटर्न के लिए कर रहे हैं निवेश? बेशक करें, लेकिन इन बातों का रखें ध्यान

अन्य म्यूचुअल फंड्स ने ऐसा ही किया
एसबीआई म्यूचुअल फंड की तरह, कुछ अन्य फेमस म्यूचुअल फंडों ने भी इंफोसिस के शेयर की कीमत में गिरावट को ‘Buy on dips’ के अवसर के रूप में देखा है. जुलाई से सितंबर 2022 तिमाही के दौरान यूटीआई म्यूचुअल फंड ने इंफोसिस में अपनी हिस्सेदारी 1.33 प्रतिशत से बढ़ाकर 1.63 प्रतिशत कर दी. इसी तरह, HDFC म्यूचुअल फंड ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में इंफोसिस लिमिटेड में अपनी हिस्सेदारी 1.31 प्रतिशत से बढ़ाकर 1.57 प्रतिशत कर दी है.

(Disclaimer: यह खबर केवल जानकारी के उद्देश्य से प्रकाशिक की गई है. यदि आप इनमें से किसी भी शेयर में पैसा लगाना चाहते हैं तो पहले सर्टिफाइड इनवेस्‍टमेंट एडवायजर से परामर्श कर लें. आपके किसी भी तरह के लाभ या हानि के लिए News18 जिम्मेदार नहीं होगा.)

Tags: Business news, Money Making Tips, Mutual fund, Sbi, Share market, Stock market



Source link