अंतराष्ट्रीय

अमेरिकाः डोनाल्ड ट्रम्प ने की थी ‘तख्तापलट’ की कोशिश, कैपिटल हिल्स दंगे की जांच समिति ने लगाया आरोप



सात डेमोक्रेट और दो रिपब्लिकन वाले पैनल ने जांच में दो गवाहों को भी बुलाया, जिसमें कैरोलिन एडवर्डस भी शामिल हैं, जो हमले में घायल हुए पहले पुलिस अधिकारी थे। उन्होंने गवाही दी कि बेहोश होने से पहले उन्हें दंगाइयों द्वारा देशद्रोही और कुत्ता कहा जा रहा था।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

अमेरिका में 6 जनवरी 2021 को कैपिटल हिल में हुए दंगों की जांच कर रही सांसदों की समिति ने अपनी रिपोर्ट में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर दंगे को अंजाम देने और तख्तापलट की कोशिश करने का आरोप लगाया है। समिति अध्यक्ष ने कहा कि हिंसा कोई दुर्घटना नहीं थी। यह ट्रम्प का अंतिम स्टैंड था।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार की रात पैनल के दो सदस्यों ने अपनी साल भर की जांच के निष्कर्षों को प्रस्तुत करते हुए डोनाल्ड ट्रम्प पर दंगे को अंजाम देने और तख्तापलट की कोशिश करने का आरोप लगाया। इसमें पहले घटना का दस्तावेजीकरण करने के दौरान अनदेखी की गई सामग्री भी शामिल थी।

सात हाउस डेमोक्रेट और दो रिपब्लिकन वाले पैनल ने जांच के दौरान दो गवाहों को भी बुलाया, जिसमें कैरोलिन एडवर्डस भी शामिल हैं, जो हमले में घायल हुए पहले पुलिस अधिकारी थे।एडवर्डस ने गवाही दी कि बेहोश होने से पहले उन्हें दंगाइयों द्वारा देशद्रोही और कुत्ता कहा जा रहा था।

जांच समिति के अध्यक्ष डेमोक्रेट बेनी थॉम्पसन ने बताया कि 6 जनवरी को तख्तापलट की कोशिश की गई थी । हिंसा कोई दुर्घटना नहीं थी। यह ट्रम्प का अंतिम स्टैंड था। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, अपनी टिप्पणी में समिति के रिपब्लिकन उपाध्यक्ष लिज चेनी ने कहा कि, “ट्रम्प ने इस हमले की लौ जलाई। राष्ट्रपति ट्रम्प ने भीड़ को बुलाया, भीड़ को इकट्ठा किया और इस हमले की साजिश रची।”




Source link