छत्तीसगढ़

डेटा ब्रीच के बाद अकासा एयर ने मांगी माफी, कहा- जानबूझकर हैकिंग का कोई प्रयास नहीं



भारत की नई एयरलाइन अकासा एयर ने स्वीकार किया है कि उसे डेटा उल्लंघन का सामना करना पड़ा, जिससे अनधिकृत व्यक्तियों को अपने कुछ ग्राहकों के डेटा को देखने की इजाजत मिल गई। एयरलाइन ने डेटा उल्लंघन के लिए माफी मांगते हुए कहा कि उसके सिस्टम में सेंध लगाने के लिए ‘जानबूझकर हैकिंग का कोई प्रयास नहीं’ किया गया।

एयरलाइन ने अपनी वेबसाइट पर पोस्ट किए गए एक संदेश में कहा कि हमारे लॉगिन और साइन-अप सेवा से संबंधित एक अस्थायी तकनीकी कॉन्फिगरेशन एरर की सूचना हमें गुरुवार 25 अगस्त, 2022 को मिली थी।

कंपनी ने रविवार को विस्तार से बताया, “इस कॉन्फिगरेशन एरर के चलते, रजिस्टर्ड यूजर्स के नाम, लिंग, ईमेल पते और फोन नंबर की जानकारी अनधिकृत व्यक्तियों तक पहुंच गई।”

“हम पुष्टि कर सकते हैं कि उपरोक्त विवरणों के अलावा, किसी भी यात्रा संबंधी जानकारी, यात्रा रिकॉर्ड या भुगतान जानकारी से समझौता नहीं किया गया है।”

मुंबई से अहमदाबाद के लिए 7 अगस्त को अपनी उद्घाटन उड़ान संचालित करने वाली अकासा एयर ने कहा कि उसने अपने सिस्टम से जुड़े कार्यात्मक तत्वों को पूरी तरह से बंद कर अनधिकृत पहुंच को तुरंत रोक दिया।

अकासा एयर के सह-संस्थापक और मुख्य सूचना अधिकारी आनंद श्रीनिवासन ने कहा, “इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए व्यापक प्रोटोकॉल मौजूद हैं, हमने यह सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त उपाय किए हैं कि हमारे सभी सिस्टम की सुरक्षा और भी बेहतर हो।”

अकासा एयर ने सीईआरटी-इन को घटना की ‘स्वयं-रिपोर्ट’ की। कंपनी ने कहा, “हमने प्रभावित यूजर्स को भी सूचित किया है कि इस मामले की सूचना सीईआरटी-इन को दी गई है।” एयरलाइन ने कहा, “हम स्पष्ट करना चाहते हैं कि हमारे रिकॉर्ड के आधार पर जानबूझकर हैकिंग का प्रयास नहीं किया गया।”

आईएएनएस के इनपुट के साथ



Source link