अंतराष्ट्रीय

इमरान खान पर हमले के बाद पूरे पाकिस्तान में विरोध प्रदर्शन, बड़े पैमाने पर सड़कों पर उतरे लोग



इमरान खान ने अस्पताल से जारी बयान में आरोप लगाया है कि लॉन्ग मार्च पर फायरिंग शहबाज शरीफ, राणा सनाउल्लाह और मेजर जनरल फैसल के इशारे पर की गई। माना जा रहा है कि इमरान के इस आरोप के बाद पाकिस्तान में सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन और तेज हो जाएंगे।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

Engagement: 0

पाकिस्तान के गुजरांवाला में आज पीटीआई के लॉन्ग मार्च पर हुई फायरिंग में पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान और पीटीआई के अन्य नेताओं के घायल होने के बाद देश भर के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। लाहौर, कराची समेत तमाम शहरों में लोग सड़कों पर उतरकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

आज हुए हमले में इमरान खान समेत पार्टी के कई नेताओं को गोली लगी है। एआरवाई न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, पार्टी के लंबे मार्च के दौरान अल्लाहवाला चौक पर पीटीआई के स्वागत शिविर के पास एक व्यक्ति द्वारा की गई गोलीबारी में इमरान और पीटीआई के अन्य नेता घायल हो गए। इमरान को फौरन सुरक्षाबलों ने घेर लिया और कड़ी सुरक्षा के बीच वहां से अस्पताल ले गए।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हमले के बाद देश भर के कई शहरों में खान की हत्या की कोशिश का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। हमले के विरोध में पीटीआई कार्यकर्ताओं ने कराची के 17 इलाकों में प्रदर्शन शुरू कर दिया है। उग्र कार्यकर्ताओं ने उत्तरी कराची के पावर हाउस चौरांगी में सड़क जाम कर दिया, वहीं बड़ी संख्या में पीटीआई समर्थकों ने कोरंगी रोड पर विरोध प्रदर्शन किया।

पुलिस बल धरना स्थलों पर पहुंच चुका है और सड़क खाली करने के लिए प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर रही है। कराची में कई मुख्य सड़कों पर विरोध प्रदर्शन के दौरान कई क्षेत्रों में भारी ट्रैफिक जाम देखा गया। पीटीआई कार्यकर्ताओं ने लाहौर के लिबर्टी चौक पर भी विरोध प्रदर्शन किया। एक और विरोध प्रदर्शन मुरी रोड पर किया गया। फैसलाबाद में भी बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी आंतरिक मंत्री राणा सनाउल्लाह के आवास के बाहर जमा हो गए।

इस बीच इमरान खान ने अस्पताल से बयान जारी कर आरोप लगाया है कि उन पर हुआ हमला शहबाज शरीफ, राणा सनाउल्लाह और मेजर जनरल फैसल के इशारे पर किया गया है। उन्होंने कहा कि उन्हें जानकारी मिल रही है और वह उसी के आधार पर यह कह रहे हैं। पीटीआई के असद उमर और मियां असलम इकबाल ने इमरान खान का यह बयान मीडिया में जारी किया। माना जा रहा है कि इमरान के इस आरोप के बाद पाकिस्तान में सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन और तेज हो जाएंगे।




Source link