राष्ट्रीय

नोटबंदी के 6 साल, कभी इसका गुणगान करने वाले PM मोदी अब नहीं करते जिक्र, कांग्रेस ने पूछा- नाकामी कब करेंगे स्वीकार?



 नोटबंदी से हुई बर्बादी पर कांग्रेस अध्यक्ष के सवाल

नोटबंदी की छठी वर्षगांठ पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र की मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा, “नोटबंदी का वादा देश को काले धन से मुक्त करने का था, लेकिन इसने व्यवसायों को बर्बाद कर दिया और नौकरियां खत्म कर दी हैं। मास्टरस्ट्रोक के 6 साल बाद जनता के पास उपलब्ध नगदी 2016 की तुलना में 72 फीसदी ज्यादा है। प्रधानमंत्री ने अभी तक इस विफलता को स्वीकार नहीं किया है, जिसके कारण अर्थव्यवस्था खत्म हो गई है।” 

कांग्रेस अध्यक्ष ने एक रिपोर्ट भी साझा की है, जिसमें कहा गया है कि आज प्रचलन में नकदी 30.88 लाख करोड़ रुपये है, जबकि नवंबर 2016 में यह केवल 17.97 लाख करोड़ रुपये थी। नोटबंदी के घोषित उद्देश्यों में से एक डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देना था जैसा कि सरकार ने महसूस किया था। बहुत अधिक नकदी चलन में थी। लेकिन अब नकदी में तेज उछाल ने सरकार के उस मकसद को स्पष्ट रूप से खत्म कर दिया है। उन्होंने कहा कि इसके मकसद भ्रष्टाचार से लड़ने, नकली नोटों को प्रचलन से बाहर करने और आतंकी फंडिंग पर अंकुश लगाने जैसे थे।



Source link