Ayush231
ताज़ा खबर

जिला स्तरीय नि:शुल्क आयुष स्वास्थ्य मेले में 724 मरीजों का हुआ उपचार


रायगढ़,  विधायक रायगढ़ प्रकाश नायक के मुख्य आतिथ्य में आज जिला स्तरीय नि:शुल्क आयुष स्वास्थ्य मेला शासकीय आयुर्वेद जिला चिकित्सालय, पंजरी प्लाट रायगढ़ में संपन्न हुआ। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल, महापौर श्रीमती जानकी काटजू, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती संगीता गुप्ता, सीईओ जिला पंचायत अबिनाश मिश्रा, सेवानिवृत्त जिला आयुर्वेद डॉ.अश्वनी शर्मा, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ.वी.के.अम्बवानी, जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ.मीरा भगत तथा आयुष विभाग के सभी अधिकारी-कर्मचारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।
आयुष स्वास्थ्य मेला में आयुर्वेद के 579, होम्योपैथी पद्धति के 145, कुल 724 जिसमें पैथोलॉजी जॉच 119, पंचकर्म के 73, योगा परामर्ष 22 एवं गुद परीक्षण के 12 मरीजों का उपचार कर नि:शुल्क दवाईयां दी गई।
इस मौके पर विधायक श्री नायक ने आयुष चिकित्सा के बारे में लोगों की जागरूकता संबंधी जानकारी दी और उन्होंने आज के परिवेश में आयुर्वेद एंव होम्योपैथी चिकित्सा चिकित्सा सुविधा का लाभ लेने हेतु प्रेरित किया। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री पटेल ने वर्तमान जीवन शैली में आयुर्वेद की महत्ता बताई तथा चिकित्सक को मानवता की सेवा के लिये सबसे महत्वपूर्ण कहा। सीईओ श्री मिश्रा ने उपस्थित लोगों को आयुष चिकित्सा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी तथा पंचकर्म चिकित्सा सुविधा को जनसामान्य के लिए सुलभ हो इस पर विशेष जोर दिया तथा कार्य करने हेतु निर्देश दिए। होम्योपैथी चिकित्सक डॉ. मुकेश साहू द्वारा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये होम्योपैथी औषधि अर्सेनिक एल्ब 30 की तीन खूराक रोजाना लेने की सलाह दी।
जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ.मीरा भगत ने जिला आयुर्वेद चिकित्सालय में उपलब्घ पंचकर्म, क्षारसूत्र जैसे आयुर्वेद की विधाओं का अधिकाधिक संख्या में लाभ लेने हेतु जनसामान्य को प्रेरित कर जागरूकता गतिविधियों की जानकारी दी। इस शिविर में नशा मुक्ति हेतु विशेष परामर्श केन्द्र में डॉ.नरसिंह पटेल द्वारा नशा मुक्ति परामर्श दिया गया। मेले में औषधीय पौधों एवं जड़ी बुटियों की प्रदर्शनी लगाई गई। जिसमें डॉ.संजीव गुप्ता ने आयुर्वेद के लाभ के संबंध में जानकारी दी। स्थानीय वनौषधियों की जानकारी एवं उपयोग को बढ़ावा देने हेतु इस अवसर पर आयुर्वेदिक औषधीयं पौधे जैसे पुष्करमूल, गजपीपल, गोक्षुर, अश्वगंधा, शतावरी, वराही कंद, विदारी कंद, गूडुची (गिलोय), वासा (अडूसा), अर्जून (कवहा), भूम्यामलकी (भूमि ऑवला), पूर्ननवा सप्तपर्णी, धातकी, बकूल, महानिम्ब, गुग्गुल, अर्क, कुष, पषाणभेद, महोगनी एवं काषटदारू आदि की इनके गुण उपयोग संबंधी जानकारी दी गई। योगा को बढ़ावा देने के लिए आयुष हेल्थ वेलनेस सेंटर शास.आयु.औष. रायगढ़ के योग प्रशिक्षक द्वारा प्रशिक्षित किये गये बच्चों द्वारा योगा का प्रदर्शन कराया गया, जिसे सभी अतिथियों ने सराहना की और लोगों को योगा करने के लिए प्रेरित किया गया। इस मेले में योगा के प्रचार-प्रसार के लिए विभिन्न प्रकार के योगा, आयुर्वेद एवं होम्योपैथी से संबंधित अनेक प्रकार पाम्पलेटों का भी वितरण किया गया।