राष्ट्रीय

40 सिर वाले रावण ने धनुष-बाण फ्रीज करवाया, शिंदे गुट से ज्यादा बीजेपी को खुशी हुई होगीः उद्धव ठाकरे



उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने 3 चुनाव चिन्ह- त्रिशूल, उगता सूरज और मशाल के विकल्प दिए हैं। इसके अलावा हम ने दल के लिए शिवसेना बालासाहेब ठाकरे, शिवसेना बालासाहेब प्रबोधनकार ठाकरे, शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे तीन नाम भी दिए हैं।

फोटोः स्क्रीनशॉट
फोटोः स्क्रीनशॉट
user

Engagement: 0

चुनाव आयोग द्वारा शिवसेना के नाम और चुनाव चिन्ह ‘धनुष-बाण’ को फ्रीज किये जाने के बाद शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे ने आज पहली प्रतिक्रिया दी है। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले गुट के साथ बीजेपी पर भी हमला बोला और कहा कि 40 सिर वाले रावण ने धनुष-बाण फ्रीज करवाया है और इसकी खुशी शिंदे गुट से ज्यादा बीजेपी को हुई होगी।

पार्टी के नाम और चुनाव चिन्ह के लिए 3-3 नाम दिए

रविवार शाम को फेसबुक लाइव में चुनाव आयोग के फैसले पर नाराजगी जताते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि आयोग के इस निर्णय की मुझे अपेक्षा नहीं थी। मुझे न्यायपालिका पर विश्वास है, हमें इंसाफ मिलेगा। कल चुनाव आयोग के आदेश के बाद हमने त्रिशूल, उगता सूरज और मशाल के 3 चुनाव चिन्ह के विकल्प दिए हैं। इसके अलावा हमने दले के लिए शिवसेना बालासाहेब ठाकरे, शिवसेना बालासाहेब प्रबोधनकार ठाकरे, शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे तीन नाम भी दिए हैं। चुनाव आयोग का धन्यवाद कि उन्होंने हमारी दी जानकारी के बारे में जनता को बताया। शिंदे गुट ने अभी तक कुछ नहीं दिया है। ठाकरे ने कहा कि चुनाव आयोग अंधेरी के उपचुनाव से पहले हमें चिन्ह और दल का नाम दे।

इन लोगों ने अपनी मां के सीने में ही छुरा घोंपा

इससे पहले उद्धव ठाकरे ने कहा कि 40 सिर के रावण ने प्रभु श्रीराम का धनुष-बाण फ्रीज करवाया है। मुझे इसका दुःख तो हुआ लेकिन गुस्सा इस बात का है कि इन लोगों ने अपनी मां के सीने में ही छुरा घोंप दिया। इस फैसले से शिंदे गुट से ज्यादा बीजेपी को खुशी हो रही होगी और कह रहे होंगे कि देखो हमने आपके ही लोगों से आपकी शिवसेना फ्रीज करवा दी। ठाकरे ने कहा कि अब कुछ ज्यादा ही हो रहा है।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवाजी पार्क में हमारी दशहरा रैली न हो इसका पूरा प्रयास किया गया। दशहरा पर दो कार्यक्रम हुए, एक तरफ फाइव स्टार इवेंट और दूसरी तरफ आम आदमी शिवाजी पार्क आया था। शिवसेना प्रमुख ने कहा कि उद्धव ठाकरे कौन है? मैं उद्धव बालासाहेब ठाकरे हूं इसलिए मेरी यह हैसियत है।

बीजेपी कर रही शिंदे गुट का इस्तेमाल

उद्धव ठाकरे ने पिता बाल ठाकरे को याद करते हुए कहा कि शिवाजी पार्क में हमारा एक कमरे का फ्लैट था। लासाहेब को प्रबोधनकार ने कहा कि शिवसेना नाम रखो, ऐसे शिवसेना की शुरुवात हुई थी। मराठी माणुष के भले के लिए महाराष्ट्र के हितों के लिए शिवसेना बनी थी। पहला चुनाव ठाणे नगरपालिका में जीते। हर संकट में, विपदा में शिवसैनिक लोगों के लिए खड़े रहे हैं। कुछ लोगों को लगता है कि मैंने सब किया है, लेकिन ऐसा नहीं है। बहुत लोग थे जिन्होंने त्याग और बलिदान दिया।

उद्धव ठाकरे ने शिंदे और बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि शिवसेना की एकता तोड़कर क्या मिला? शिवसेना के नाम से इनका क्या सम्बंध? शिंदे गुट को भी समझ में नहीं आ रहा कि बीजेपी कैसे उनका इस्तेमाल कर रही है। ठाकरे ने कहा कि जब आपकी जरूरत खत्म हो जाएगी तो आपको भी फेंक दिया जाएगा जैसे ब्रांडेड कम्पनी का पेय पीकर हम बोतल फेंक देते हैं। ठाकरे ने आरोप लगाया कि शिवसैनिकों को धमकाया जा रहा है।

शिवसेना को खत्म करने की कोशिश कर रही बीजेपी

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि कांग्रेस ने कभी शिवसेना पर बैन लगाने की कोशिश नहीं की, लेकिन आप शिवसेना को खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं। मुझे मेरे पिता और दादाजी ने सिखाया है कि आत्मबल और आत्मविश्वास होगा तो डरने की जरूरत नहीं है। मैं लड़खड़ाया नहीं हूं। अगर हिम्मत है तो बालासाहेब के नाम का इस्तेमाल मत करो। आपको बालासाहेब चाहिए पर बालासाहेब का पुत्र नहीं चाहिए! क्योंकि ठाकरे परिवार को छोड़कर शिवसेना को गुलाम बना के रखना है।




Source link