वारदात

फोरेंसिक सबूतों वाला 3000 पेज का ड्राफ्ट तैयार, दिल्ली पुलिस आज दाखिल कर सकती है चार्जशीट



अफताब पूनावाला का कबूलनामा और नार्को टेस्ट की रिपोर्ट भी इसमें शामिल है, हालांकि इन दोनों रिपोर्ट की कोर्ट में ज्यादा अहमियत नहीं होगी। आफताब का पॉलीग्राफी टेस्ट भी कराया था। इसे भी चार्टशीट में जोड़े जाने की उम्मीद है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

दिल्ली पुलिस मंगलवार को साकेत जिला अदालतों के समक्ष श्रद्धा वॉल्कर हत्याकांड में चार्जशीट दाखिल कर सकती है। सूत्रों ने कहा कि चार्जशीट 3,000 पन्नों के होने की उम्मीद है। यह फॉरेंसिक और इलेक्ट्रॉनिक सबूतों के आधार पर बनाई गई है।

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने छतरपुर के जंगलों से बरामद हड्डियां और उनकी डीएनए रिपोर्ट को भी चार्टशीट में शामिल किया है। इसके अलावा अफताब पूनावाला का कबूलनामा और नार्को टेस्ट की रिपोर्ट भी इसमें शामिल है, हालांकि इन दोनों रिपोर्ट की कोर्ट में ज्यादा अहमियत नहीं होगी। आफताब का पॉलीग्राफी टेस्ट भी कराया था। इसे भी चार्टशीट में जोड़े जाने की उम्मीद है।

बता दें कि अदालत ने 10 जनवरी को उनकी न्यायिक हिरासत 14 दिनों के लिए बढ़ा दी थी। पूनावाला को मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अविरल शुक्ला के समक्ष पेश किया गया। पूनावाला ने पढ़ने के लिए कानून की किताबों की मांग की थी। अदालत ने जेल अधिकारियों को उसे गर्म कपड़े मुहैया कराने का भी निर्देश दिया था।

6 जनवरी को, पूनावाला ने अदालत में एक आवेदन दिया था, जिसमें रोजमर्रा की वस्तुओं के साथ-साथ गर्म कपड़े खरीदने के लिए धन की आवश्यकता का हवाला देते हुए अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड जारी करने की मांग की गई थी। पूनावाला का आवेदन उनके वकील के माध्यम से किया गया, जिसमें उनके बैंक खाते से धन जारी करने की मांग की गई थी और कहा गया था कि उनके पास जेल के अंदर पर्याप्त गर्म कपड़े नहीं हैं।

कोर्ट ने 23 दिसंबर को उनकी न्यायिक हिरासत 14 दिनों के लिए बढ़ा दी थी। 22 दिसंबर को, उन्होंने यह दावा करते हुए अपनी जमानत याचिका वापस ले ली कि उन्होंने गलत तरीके से जमानत के लिए आवेदन किया था।

ऐसे हुआ था श्रद्धा मर्डर केस का खुलासा

बता दें, आफताब पूनावाला ने 18 मई को दिल्ली स्थित महरौली में किराए के फ्लैट में झगड़े के बाद श्रद्धा वॉकर की हत्या कर दी थी। उसने श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े कर दिए और बाद में उन्हें कई दिनों तक जंगलों में ठिकाने लगाता रहा। श्रद्धा की हत्या का खुलासा तब हुआ था जब उसके पिता अक्टूबर 2020 में महाराष्ट्र पुलिस के पास शिकायत लेकर गए थे। उन्होंने कई महीनों तक अपनी बेटी से संपर्क न होने की बात कही थी। इसके बाद पुलिस ने पूरी मामले का खुलासा किया था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ




Source link